म्यांमार में विस्थापितों के शिविर पर सैन्य हमले में 29 लोगों की मौत

भारत-नेपाल सीमा संवाददाता जीत बहादुर चौधरी की रिप‍ोर्ट –



10/10/2023

क्रामुस –   काठमाण्डौ,नेपाल-बैंकॉक – उत्तरी म्यांमार में विस्थापित लोगों के एक शिविर पर सैन्य हमले में 29 लोगों की मौत हो गई है। क्षेत्र पर कब्ज़ा करने वाले जातीय विद्रोही समूह के एक प्रवक्ता ने मंगलवार को कहा कि हमले में दर्जनों लोग घायल हो गए।
म्यांमार की जुंटा सरकार पर 2021 तख्तापलट के प्रतिरोध को दबाने के लिए नागरिकों पर खूनी हमले करने का आरोप लगाया गया है। काचिन इंडिपेंडेंस आर्मी (केआईए) के कर्नल नाव बू ने कहा कि ताजा हमला सोमवार रात स्थानीय समयानुसार 11:30 बजे हुआ।

‘बच्चों समेत 29 शव मिले हैं, 56 लोग घायल हुए हैं’ उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि कैंप में किस तरह का हमला हुआ था, इसकी जांच की जा रही है, ‘हमने किसी विमान की आवाज नहीं सुनी. ‘

उन्होंने यह भी कहा कि सेना यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि क्या चीन की सीमा पर लाइज़ा शहर के पास शिविर पर ड्रोन हमला हुआ था ।
स्थानीय मीडिया ने हमले के बाद लकड़ी के मलबे से शवों को निकालने के लिए फ्लैशलाइट का उपयोग करते हुए बचावकर्मियों की तस्वीरें दिखाईं। तस्वीर में कम से कम 10 लोगों के शव तौलिये और तिरपाल में जमीन पर पड़े हुए दिख रहे हैं। कर्नल नव बू ने बताया कि लियाजा के पास एक अस्पताल में 42 लोगों का इलाज चल रहा है ।

2021 में सेना द्वारा आंग सान सू की को सत्ता से हटाने के बाद से, काचिन राज्य में 10,000 से अधिक लोग विस्थापित हुए हैं। 2021 में सैन्य तख्तापलट का व्यापक विरोध हुआ और इससे असहमत लोगों पर सेना ने खूनी कार्रवाई की है. एसोसिएशन फॉर पॉलिटिकल प्रिज़नर्स (एएपीपी) के अनुसार, सैन्य अभियानों में हजारों लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 4,100 लोग मारे गए हैं।

क्राइम मुखबिर
अपराध की तह तक!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *