आमना मुस्लिम गर्ल्स इण्टर कॉलेज एवं मार्शल आर्ट्स स्पोर्ट्स एसोसिएशन गोरखपुर के संयुक्त तत्वाधान में कराटे एवं आत्म रक्षा के 3 दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का हुआ समापन।

क्राइम मुखबिर से डॉ. योगेन्द्र पाण्डेय की रिपोर्ट

गोरखपुर।आमना मुस्लिम गर्ल्स इण्टर कॉलेज में छात्राओं एवं छात्रों के लिए कराटे एवं आत्म रक्षा के ३ दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का समापन हुआ। कॉलेज ने यह प्रशिक्षण मार्शल आर्ट्स स्पोर्ट्स एसोसिएशन गोरखपुर के सहयोग से सफलता पूर्वक कराया।
इस अवसर पर गुडविल पीपुल वेलफेयर फाउंडेशन के अध्यक्ष श्री रज़ी अहमद सिद्दीकी ने कॉलेज की प्रधानाचार्य श्रीमती उम्मे रज़िया को स्मृति चिह्न एवं प्रशस्ति-पत्र तथा सभी प्रतिभागियों, अध्यापिकाओं को को अपनी संस्था का प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। 
छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए रज़ी अहमद सिद्दीक़ी  ने कहा की आज के युग में आत्म रक्षा का प्रशिक्षण लेना अति आवश्यक है।
प्रधानाचार्य उम्मे रज़िया ने कहा कि छात्राओं को अपनी रक्षा के लिए पिता या भाई पर निर्भर नहीं होना चाहिए क्यूंकि हर जगह वे आपके साथ नहीं जा सकते अतः आत्म रक्षा के लिए प्रशिक्षण के लिए अभिभावकों को अपने बच्चों का उत्साहवर्धन करना चाहिए।
मुर्तुज़ा हुसैन मेमोरियल हायर सेकंडरी स्कूल के अध्यापक मोहम्मद महशर ने कहा कि प्रशिक्षण के साथ साथ आप अपने खान पान पर भी ध्यान दें, पौष्टिक आहार लें। इण्डियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं वरिष्ठ पत्रकार सेराज अहमद कुरैशी ने प्रशिक्षण शिविर का आयोजन करने के लिए कॉलेज की प्रधानाचार्य उम्मे रज़िया, कॉलेज कमेटी, शिविर के संयोजक, मुख्य प्रशिक्षक एवं मार्शल आर्ट्स स्पोर्ट्स एसोसिएशन गोरखपुर के जिला अध्यक्ष मोहम्मद इरफ़ान उर्फ मुन्ना को बधाई दी और आशा व्यक्त की कि भविष्य में भी ऐसे आयोजन होते रहेंगे।
इस अवसर पर कॉलेज कि उप प्रधानाचार्या उम्मे सलमा, वरिष्ठ  अध्यपिकाएं गज़ाला  परवीन, तहज़ीब  फात्मा, फ़िरोज़ा बानो , बड़े  बाबू  रशीद  अहमद और कम्प्यूटर  विभाग  के ताहिर  अहमद खान, धर्मेन्द्र कुमार कोच, अनिल कुमार मौर्या (डांस टीचर), वरिष्ठ छात्र शरीफुल इस्लाम (ब्लैक बेल्ट), सूर्या सिंह (ब्राउन बेल्ट) उपस्थित रहे। शिविर  के सफल आयोजन में कराटे प्रशिक्षक मोहम्मद एहसान, मोहम्मद इस्हाक़ तथा अध्यपिकाएं माहे  नूर, शफ़क़  बनो, फ़ाएज़ा इरम, इरम ज़हरा, सुमैरा फात्मा, अरबिया कलीम, महविश आदि का विशेष  योगदान  रहा।

क्राइम मुखबिर
अपराध की तह तक !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *