ATS ने लखनऊ से पकड़ा ISI का जासूस, भारतीय सेना की खुफिया जानकारी लीक करने का आरोप —-

क्राइम मुखबिर से उप संपादक रतन गुप्ता की रिपोर्ट –


ATS के मुताबिक शैलेश हरलीन कौर नाम की आईडी के संपर्क में था। इसी आईडी से मैसेंजर पर शैलेश ISI हैंडलर से बात कर रहा था। एक अन्य हैंडलर प्रीति से भी व्हाट्सएप के जरिए शैलेश संपर्क में था। इन्हीं हैंडलर्स को शैलेश ने सेना की जानकारियां भेजी थी। इतना ही नहीं अप्रैल में शैलेश को फोन पे के जरिए 2000 रुपए भी मिले थे। ATS के मुताबिक शैलेश को हर जानकारी पर रकम मिल रही थी।

ATS ने भारतीय सेना की जासूसी करने वाले पाकिस्तानी ISI एजेंट को किया गिरफ्तार।
आरोप है कि भारतीय सेना की जासूसी करने वाले शैलेश कुमार ने कई अहम जानकारी लीक की।
उत्तर प्रदेश ATS ने भारतीय सेना की जासूसी करने वाले पाकिस्तानी ISI एजेंट को राजधानी लखनऊ से गिरफ्तार किया है. आरोप है कि भारतीय सेना की जासूसी करने वाले शैलेश कुमार उर्फ शैलेंद्र सिंह चौहान ने व्हाट्सएप और फेसबुक के जरिए आईएसआई को कई अहम जानकारी दी थी।

ATS के मुताबिक शैलेश करीब 8-9 महीने भारतीय सेना में काम कर चुका है. उसने अरुणाचल प्रदेश में अस्थाई लेबर और पोर्टर के रूप में काम किया था. फिलहाल वह भारतीय सेना से किसी भी तरह से नहीं जुड़ा है. हालांकि अपने प्रोफाइल पर खुद को भारतीय सेना में कार्यरत बताया है. भारतीय सेना की यूनिफॉर्म में अपनी फोटो सोशल मीडिया पर शैलेश ने लगा रखी थी।

ATS के मुताबिक शैलेश हरलीन कौर नाम की आईडी के संपर्क में था। इसी आईडी से मैसेंजर पर शैलेश ISI हैंडलर से बात कर रहा था। एक अन्य हैंडलर प्रीति से भी व्हाट्सएप के जरिए शैलेश संपर्क में था।
इन्हीं हैंडलर्स को शैलेश ने सेना की जानकारियां भेजी थी. इतना ही नहीं अप्रैल में शैलेश को फोन पे के जरिए 2000 रुपए भी मिले थे। ATS के मुताबिक शैलेश को हर जानकारी पर रकम मिल रही थी।


ATS का कहना है कि ISI हैंडलर्स के साथ मिलकर शैलेश भारत के लोकतंत्र को प्रभावित करने में जूता था. अब ATS आरोपी को कस्टडी रिमांड पर लेकर आगे की पूछताछ करेगी। शैलेश मूल रूप से पटियाली, कासगंज का रहने वाला।

क्राइम मुखबिर
अपराध की तह तक !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *