भाजपा ने तैयार किया निकाय चुनावों का रोडमैप


रिपोर्टर रतन गुप्ता महराजगंज-/
भाजपा ने आगामी निकाय चुनावों का रोडमैप तैयार कर लिया है। इस रोडमैप के हिसाब से तैयारी भी शुरू कर दी है।

नगर निगमों से होगी चुनाव अभियान की शुरुआत, फिर बड़ी पालिकाओं में परखी जाएगी तैयारी

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष और महामंत्री संगठन निगमों वाले क्षेत्रों में जल्द शुरू करेंगे प्रवास

अभी पार्टी का पूरा जोर मतदाता सूचियों के पुनरीक्षण पर, सभी जनप्रतिनिधि भी लगाए

भाजपा ने आगामी निकाय चुनावों का रोडमैप तैयार कर लिया है। इस रोडमैप के हिसाब से तैयारी भी शुरू कर दी है। फिलहाल, पूरा जोर मतदाता सूचियों के पुनरीक्षण पर है। चुनाव अभियान की शुरुआत नगर निगमों वाले क्षेत्रों से होगी। फिर जिला मुख्यालय वाली और बड़ी नगर पालिकाओं की और उसके बाद नगर पंचायतों की बारी आएगी।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी और प्रदेश महामंत्री संगठन धर्मपाल सिंह जल्द निगम वाले क्षेत्रों से शुरुआत कर प्रदेश को मथना शुरू करेंगे। शहरी निकाय चुनावों में भाजपा पहले भी अच्छा प्रदर्शन करती रही है। मगर इस बार पार्टी पूर्व से भी बेहतर परिणाम चाहती है। पिछली बार हुए 16 नगर निगमों के चुनाव में भाजपा ने 14 सीटों पर जीत दर्ज कराई थी। इस बार शाहजहांपुर के शामिल होने से निगमों की संख्या 17 हो गई है। इन सभी नगर निगमों पर भगवा फहराने का लक्ष्य रखा गया है।

वहीं 200 नगर पालिकाओं में से भी पार्टी अधिकांश जीतने को प्रयासरत है। फिलहाल सभी जनप्रतिधियों को भी निकायों में वोट बढ़वाने के काम में लगा दिया गया है। संयोजक और प्रभारी भी नियुक्त किए जा चुके हैं। अधिकांश स्थानों पर जिला प्रभारियों को जिला मुख्यालय वाले निकायों में चुनाव प्रभारी बनाया गया है। निगमों का जिम्मा दोनों उपमुख्यमंत्रियों केशव प्रसाद मौर्य और ब्रजेश पाठक के साथ वरिष्ठ मंत्रियों को सौंपा गया है। तमाम बड़े निकायों का प्रभारी भी मंत्रियों को ही बनाया गया है।

आरक्षण के हिसाब से तय होंगे प्रत्याशी

पार्टी सूत्रों की मानें तो प्रदेश अध्यक्ष और प्रदेश महामंत्री संगठन जल्द निकायों में चुनावी तैयारियों का जायजा लेने जाएंगे। इस अभियान की शुरुआत नगर निगम वाले क्षेत्रों से होगी। फिर बड़े पालिका क्षेत्रों और फिर अन्य निकायों के लिए जिलों में प्रवास करेंगे। परिसीमन लगभग फाइनल हो चुका है। अब सबकी निगाहें निकायों के आरक्षण पर लग गई हैं। मेयर और चेयरमैन के साथ ही पार्षदों की सीटों का भी आरक्षण तय होना है। आरक्षण फाइनल होते ही प्रत्याशी तय होंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *