गोरखपुर में पूर्वोत्तर रेलवे के चीफ मैनेजर को सीबीआई ने रिश्वत लेते हुए दबोचा, घर से बरामद हुए 50 लाख —

शिकायत सही मिलने पर सीबीआई, लखनऊ की एंटी करप्शन ब्रांच की टीम को गोरखपुर भेजा गया था, जहां उसे गिरफ्तार करने के बाद कार्यालय और गोरखपुर व दिल्ली स्थित आवास की छानबीन की जा रही है। उसे बुधवार को राजधानी लाकर सीबीआई की विशेष अदालत में पेश किया जाएगा।

पूर्वोंत्तर रेलवे, गोरखपुर में तैनात प्रमुख मुख्य सामग्री प्रबंधक (प्रिंसिपल चीफ मैटीरियल मैनेजर) केसी जोशी को सीबीआई ने मंगलवार को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। उसके खिलाफ जेम पोर्टल के जरिए रेलवे का टेंडर हासिल करने वाली फर्म के मालिक ने सात लाख रुपये रिश्वत मांगने की शिकायत की थी। शिकायत सही मिलने पर सीबीआई, लखनऊ की एंटी करप्शन ब्रांच की टीम को गोरखपुर भेजा गया था, जहां उसे गिरफ्तार करने के बाद कार्यालय और गोरखपुर व नोएडा स्थित आवास पर देर रात तक छानबीन की जा रही थी। सूत्रों के मुताबिक नोएडा के सेक्टर 50 स्थित आवास से सीबीआई की टीम ने 50 लाख रुपये नकद बरामद किए हैं।


बता दें कि गोरखपुर निवासी प्रणव त्रिपाठी सूक्ति एसोसिएट के प्रोपराइटर हैं। उनकी फर्म जेम पोर्टल पर पंजीकृत है। वह अपनी फर्म के माध्यम से पूर्वोत्तर रेलवे, गोरखपुर व अन्य सरकारी विभागों में उत्पाद और सेवाएं उपलब्ध कराते है। उनको जनवरी माह में पूर्वोत्तर रेलवे में तीन ट्रक की सप्लाई का टेंडर जेम पोर्टल के जरिए मिला था। इसका उन्हें प्रतिमाह 80 हजार रुपये प्रति ट्रक भुगतान होना था। उन्होंने सीबीआई से की गई शिकायत में कहा कि पूर्वोत्तर रेलवे में प्रमुख मुख्य सामग्री प्रबंधक केसी जोशी ने धमकी दी कि यदि उसने 7 लाख रुपये रिश्वत नहीं दी, तो उसका टेंडर जेम पोर्टल से निरस्त करा देंगे।


उन्होंने फर्म का रजिस्ट्रेशन निरस्त करने के लिए पत्र भी लिख दिया है। इसके अलावा जो पुराने कार्य चल रहे हैं, उनको भी रद्द करवाने की बात कह रहे हैं। प्रणव ने इसकी शिकायत सीबीआई से की, जो प्रारंभिक जांच में सही पाई गई। इसके बाद प्रमुख मुख्य सामग्री प्रबंधक को ट्रैप करने के लिए गोरखपुर टीम भेजी गई। वहीं प्रणव ने अपने कर्मचारी के जरिए रिश्वत के 5 लाख रुपये केसी जोशी के सरकारी बंगले पर भेजे। जैसे ही उन्होंने रिश्वत की रकम ली, नजदीक मौजूद सीबीआई की टीम ने छापा मारकर दबोच लिया।

सीबीआई को उनका नोएडा में भी आवास होने का पता चला, जहां उनका परिवार रहता है। तत्पश्चात नोएडा के आवास पर छापा मारा गया, जहां करीब 50 लाख रुपये नकद बरामद किए गए। इसके अलावा संपत्तियों एवं निवेश के दस्तावेज और बहुमूल्य वस्तुएं भी मिली हैं। सीबीआई केसी जोशी को बुधवार को राजधानी लाकर सीबीआई की विशेष अदालत में पेश करेगी।

क्राइम मुखबिर
अपराध की तह तक !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *