डीजी फायर ने मॉल संचालकों , व्यापारियों,होटल मालिकों डॉक्टरों से साथ किया संवाद

गोरखपुर।एनेक्सी सभागार में डीजी फायर उत्तर प्रदेश फायर सेफ्टी के बारे व्यापारियों माल संचालक होटल मालिकों डॉक्टरों के साथ गोष्टी कर आग से बचने के उपाय के बारे में जागरूक किया गया डीजी फायर ने बताया कि 50% आग लगने का कारण शार्ट सर्किट है जिन घरों में इलेक्ट्रिक के पुराने तार हो चुके हैं उन तारों को बदलवा लेना चाहिए जिससे इलेक्ट्रिक शॉर्ट सर्किट से बचा जा सके डीजी फायर ने बताया कि पहले जो मकाने बनी थी उन मकानों में एसी ब्लोअर जैसे उपकरण नहीं इस्तेमाल किए जाते थे लेकिन आज के दौर में यह सभी उपयोग में लाए जा रहे हैं जिससे शॉर्ट सर्किट की संभावना ज्यादा बनी रहती है बंद कमरों में हीटर अंगेठी कोयला जलाकर नहीं सोना चाहिए बंद कमरे में कोयला हीटर जलाकर सोने से दम घुटने की संभावना ज्यादा बन जाती है जिससे मौतें हो जाती हैं जिन घरों में एलपीजी गैस सिलेंडरों के पाइप खराब हो गए हैं उन पाइपों को बदल लेना चाहिए जिससे उससे घटनाएं घटित ना होने पाए डीजी फायर ने बताया कि प्रदेश में 350 तहसील हैं सभी तहसीलों में फायर स्टेशन संचालित किया जा रहा है मुख्यमंत्री का आदेश है कि अगले कुछ सालों में प्रदेश के 830 ब्लॉकों में फायर स्टेशन संचालित की जाएंगी जिससे आग लगने से घटनाओं को तत्काल फायर ब्रिगेड की गाड़ियों को भेजकर रोका जा सकेगा 830 ब्लॉक में 91000 फायर सेफ्टी वालंटियर अपने दायित्वों का निर्वहन करते हुए कार्य कर रहे हैं आग से बचने के लिए हर व्यक्ति को बालू , पानी, पुराना कंबल जरूर रखना चाहिए आग लगने पर पहले कंबल से आग को बुझाया जाए या गीला कपड़ा आग पर तुरंत डाल दिया जाए जिससे आग बुझ जाता है गोष्टी में प्रमुख रूप से एडीजी जोन अखिल कुमार वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गोरखपुर डॉ गौरव ग्रोवर एडीएम सिटी विनीत कुमार सिंह सहित संबंधित अधिकारीगण एनेक्सी सभागार में मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *