भारत और नेपाल की बॉर्डर पर तेजी से बढ़ रहा मस्जिद और मदरसे का निर्माण

रिपोर्टर रतन गुप्ता सोनौली नेपाल बार्डरJan 27 2023 05

भारत और नेपाल की बॉर्डर पर तेजी से बढ़ रहा मस्जिद और मदरसे का निर्माण
सुरक्षा एजेंसियों की एक रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि भारत-नेपाल सीमा (India-Nepal Border) पर बन रहे मदरसों और मस्जिदों का आंकड़ा हर दिन तेजी से बढ़ता जा रहा है। मीडिया को मिली जानकारी के अनुसार वर्ष 2021 की एक रिपोर्ट से पता चला है कि भारत-नेपाल सीमा पर मदरसों और मस्जिदों की संख्या अब कुल 1688 हो चुकी है, इसमें 946 मस्जिद हैं और 623 मदरसे हैं। साथ ही 10 मदरसे और मस्जिदें निर्माणाधीन बताए जा रहे है। रिपोर्टमें यह भी कहा गया है कि गया है कि वर्ष 2018 में भारत-नेपाल सीमा पर मदरसों और मस्जिदों की कुल संख्या 1349 दर्ज की गई थी। इनमें 738 मस्जिदें और 501 मदरसे शामिल हैं।

भारत नेपाल बॉर्डर के पास तेजी से हो रहा मस्जिद-मदरसों का निर्माण: खबरों का कहना है कि, भारत-नेपाल सीमा से सटे नेपाली क्षेत्र में भी बड़ी संख्या में मदरसों और मस्जिदों का निर्माण भी कर रहे है। वर्ष 2021 में जहां कुल 334 मदरसे और मस्जिदों के बारे में जानकारी भी मिल गई थी, वहीं साल 2018 में ये संख्या 311 थी। जहां वर्ष 2018 में नेपाली इलाके में कुल 3 नए मदरसों और मस्जिदों के निर्माण की जानकारी भी मिल चुकी है। महज दो साल में निर्माणाधीन मदरसों और मस्जिदों संख्या 16 हो चुकी है।

यूपी के इन जिलों में तेजी से बढ़ी मुस्लिम आबादी: खबरों का कहना है कि नेपाल से सटे यूपी और उत्तराखंड के बॉर्डर पर इंडियन गांवों में भी मुस्लिम आबादी में जबरदस्त बढ़ोतरी दर्ज की जा चुकी है। महाराजगंज, सिद्धार्थनगर, बलरामपुर, बहराइच, श्रावस्ती और पीलीभीत जैसे जिलों में बॉर्डर के गांवों में मुस्लिम आबादी तेजी से बढ़ चुकी है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, महराजगंज में बॉर्डर के पास मौजूद कुल 302 गांवों में से 66 गांव ऐसे हैं जिनकी मुस्लिम आबादी में पिछले कुछ सालों में 30 से लेकर 50 प्रतिशत तो कई मुस्लिम बाहुल्य आबादी वाले गांव बन चुके है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *