भारत में जल्द आने वाली है ‘उड़ने वाली बस’, नितिन गडकरी ने बताया- बदलेगा सफर करने का तरीका


रिपोर्टर रतन गुप्ता की रिपोर्ट
केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि सिर्फ सड़कों पर ही काम नहीं हो रहा है बल्कि टेक्नोलॉजी सहारे जल्द ही आपका सफर और भी आसान होगा। इलेक्ट्रिक कारों की बढ़ती संख्या को लेकर उन्होंने कहा कि यह शुरुआत है और आने वाले समय में और कई बदलाव देखने को मिलेंगे।

नितिन गडकरी ने कहा- भारत में जल्द आएंगी उड़ने वाली बसें———– — ————-
हाइड्रोजन कार से सफर और भी आसान, 100 रुपये में 400 km————————————-
इलेक्ट्रिक गाड़ियों की बढ़ी संख्या, गडकरी ने बताया फ्यूचर प्लान—————————–

भारत में तेजी से सड़कों का निर्माण हो रहा है। इलेक्ट्रिक गाड़ियां सड़कों पर आ रही हैं। मेट्रो,पॉड टैक्सी का जमाना आ गया है। ड्रोन से एक जगह से दूसरी जगह सामान पहुंचाया जा रहा है। यह सब संभव हुआ है। नई-नई टेक्नॉलॉजी आ रही है और जल्द ही भारत में उड़ने वाली बस आने वाली है। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि भारत में उड़ने वाली बस आएगी। उन्होंने कहा कि इसको लेकर स्टडी चल रही है और जल्द इसका सपना साकार हो सकता है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हाइड्रोजन से चलने वाली गाड़ियों पर और तेजी से रिसर्च चल रहा है और जल्द ही इसकी लागत काफी कम होगी और इलेक्ट्रिक के साथ ही साथ ऐसे गाड़ियां भी आएंगी।

केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि भारत में अभी उड़ने वाली बस को लेकर स्टडी की जा रही है। इस प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि फिलीपींस में उड़ने वाली बसें ऑपरेट की जा रही है। भारत में भी यह संभव है। इसके साथ ही उन्होंने बजट में इस बार हाइड्रोजन मिशन के लिए दिए गए फंड का जिक्र किया।
नितिन गडकरी ने कहा कि ग्रीन हाइड्रोजन को लेकर कहा कि इस दिशा में तेजी से काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि कोयले से ब्लैक हाइड्रोजन बनता है, पेट्रोलियम से जो बनता है उसे ब्राउन हाड्रोजन कहते हैं और पानी से ग्रीन हाइड्रोजन। गडकरी ने कहा कि बायोवेस्ट मीथेन से हाइड्रोजन को लेकर तेजी से काम चल रहा है। अभी इसकी कीमत 300 रुपये प्रतिकिलो है उसकी लागत घटाकर 100 रुपये प्रतिकिग्रा करना है। एक केजी में 450 किलोमीटर कार चलेगी। यानी 100 रुपये 450 किलोमीटर।
नितिन गडकरी ने कहा कि उनके पास इथेनॉल से चलने वाली स्कूटर है। गडकरी ने कहा कि जब मैं इलेक्ट्रिक कार और गाड़ियों की बात करता था तो मुझसे कई सवाल पूछे जाते थे। मुझसे कहा जाता था कि बीच में बैट्री खत्म हो गई तो क्या। अब कई इलेक्ट्रिक कार और टू व्हीलर आ गए किसी की बंद हुई क्या। उन्होंने कहा कि जब मैं कहता था कि दिल्ली से मेरठ 40 मिनट तो लोग हंसते थे लेकिन यह हुआ। अब दिल्ली से जयपुर, दिल्ली से देहरादून और दिल्ली से हरिद्वार यह भी सफर 2 घंटे में जल्द पूरा होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *