धर्मांतरण पर रोक लगाए भारत और नेपाल दोनों देशों की सरकार–सुरेंद्र नाथजी

रिपोर्टर रतन गुप्ता सोनौली /नेपाल

भारत और नेपाल दोनों देशों में होने वाले सामाजिक धार्मिक और राजनीतिक परिवर्तन का प्रभाव दोनों देशों के संबंधों पर पड़ता है इस दृष्टिकोण से आवश्यक है कि नेपाल और भारत में हिंदुओं को एकजुट करने के लिए ऊंच नीच और भेदभाव की भावना को समाप्त कर संगठित हिंदू समाज की समीक्षा करें उक्त बातें दिल्ली कालिका पीठ के महंत सुरेंद्रनाथ अवधूत ने काठमांडू के आनंद पशुपति धर्मशाला में विश्व हिंदू महासंघ द्वारा साधु संतों के साथ शुक्रवार कोआयोजित पत्रकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहीं मैंने अभी कहां की भारत और नेपाल दोनों देशों में एक साजिश के तहत हिंदुओं का धर्म परिवर्तन कराया जा रहा है धर्म परिवर्तन की घटना को रोकने के लिए भारत और नेपाल दोनों देशों की सरकार को कानून बनाकर रुकना चाहिए यह कानून हिंदुओं के हित में होगा साथ ही साथ भारत और नेपाल को हिंदू राष्ट्र घोषित कराने में भी सहयोगी सिद्ध होगा विश्व हिंदू महासंघ नेपाल की अंतरराष्ट्रीय कार्यवाहक अध्यक्ष अस्मिता भंडारी ने कहा कि विश्व हिंदू महासंघ नेपाल की हिंदू जनता नेपाल राष्ट्र के हित के लिए स्वयं कार्य करती रहेगी भारत और नेपाल के मधुर संबंधों को प्रगाढ़ बनाने की दिशा में हमेशा प्रयास करती रहेगी इस अवसर पर योगी अलखनाथ जी हिंदू युवा वाहिनी के पूर्व जिला अध्यक्ष नरसिंह पांडे पूर्व अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष हेम बहादुर कार्की व दीपेंद्र चौधरी विश्व हिंदू महासंघ के अंतरराष्ट्रीय महामंत्री अमर केसर सिंह बलभद्र नाथ जी कोषाध्यक्ष शोभा महासके राधेश्याम थापा आदि लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *