महराजगंज मे बुखार के मरीजों की बढ़ती ही जा रही तादात, पटे अस्पताल

रिपोर्टर रतन गुप्ता महराजगंज

महराजगंज मे बुखार के मरीजों की तादात बढ़ती ही जा रही है। जिला अस्पताल के साथ ही निजी अस्पताल बुखार के मरीजों से पटे रह रहे हैं। वहीं, डेंगू के बढ़ रहे प्रकोप को देखते हुए बुखार व लक्षण वाले मरीजों की डेंगू जांच पर फोकस किया जा रहा है। शुक्रवार को जिला अस्पताल में 250 और निजी क्षेत्र के केएमसी डिजिटल हास्पिटल में 294 बुखार के मरीज पहुंचे। इनमें से कई दर्जन लोगों की डेंगू जांच किट व एलाइजा टेस्ट से डेंगू की जांच की गई। राहत वाली बात यह रही कि इनमें से कोई डेंगू का मरीज नहीं मिला।

कुछ दिनों से वायरल बुखार का प्रकोप लगातार बना हुआ है। हर दिन अस्पतालों में बुखार के मरीज पहुंच रहे हैं। वहीं, इस साल डेंगू ने भी अपना प्रकोप बढ़ा दिया है। पिछले पूरे साल मिलाकर महराजगंज जिले में 32 डेंगू के मरीज मिले थे, जबकि इस साल अक्टूबर माह तक ही 31 डेंगू के मरीज मिल चुके हैं। इनमें से सभी इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं।

पर्ची काउंटर से लेकर ओपीडी तक बुखार के सर्वाधिक मरीज

जिला अस्पताल और केएमसी डिजिटल हास्पिटल में पर्ची काउंटर से लेकर ओपीडी तक बुखार के सर्वाधिक मरीज रह रहे हैं। शुक्रवार को जिला अस्पताल में पहुंचे कुल 856 मरीजों में से 250 मरीज वायरल बुखार के मिले। इनका इलाज करने के साथ ही डॉक्टरों ने लक्षण के आधार पर एक दर्जन से अधिक मरीजों की डेंगू जांच कराई। सभी सामान्य मिले।

वहीं केएमसी डिजिटल अस्पताल के प्रवक्ता डॉ. देव कुशवाहा ने बताया कि शुक्रवार को 950 मरीजों की ओपीडी हुई। इनमें से 294 मरीज बुखार व वायरल बुखार के रहे। इनमें से पांच मरीजों को भर्ती करना पड़ा है। दर्जन भर के आसपास के मरीजों की एहतियातन डेंगू जांच कराई गई, लेकिन कोई डेंगू पीड़ित नहीं मिला।

सात दिन लग जा रहे हैं ठीक होने में

जिला अस्पताल के डॉ. एवी त्रिपाठी का कहना है कि वायरल बुखार का प्रकोप अधिक हो गया है। वायरल ठीक होने में पांच से सात दिन लग जा रहे हैं। मरीजों को पूरा डोज लेना जरूरी है।

जिला अस्पताल में बना हेल्प डेस्क

जिला अस्पताल के पर्ची काउंटर के बगल में हेल्प डेस्क बना है। यहां बुखार के मरीजों की स्क्रीनिंग व ओपीडी में दिखाने में सहायता करने के लिए कर्मचारियों की तैनाती की गई है।

बुखार के मरीज बढ़े हैं। इलाज के साथ जांच के प्रबंध किए गए हैं। जरूरी दवाओं का स्टॉक है।

-डॉ. एके द्विवेदी, सीएमएस-जिला अस्पताल

कुछ दिनों से वायरल बुखार के मरीजों की संख्या बढ़ी है। जांच-इलाज के बाद जरूरी पड़ने पर मरीजों को भर्ती किया जा रहा है।

  • डॉ. देव कुशवाहा, प्रवक्ता-केएमसी हास्पिटल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *