जालसाज राशिद नसीम से जुड़े थे कई सफेदपोश और अफसर, 2019 में नेपाल से हुआ था गिरफ्तार छुटने के बाद दुबई भाग गया


रिपोर्टर रतन गुप्ता सोनौली /नेपालFri, 23 Sep 2022

लखनऊ में रहने के दौरान भी उस पर बहुत से ठगी के मुकदमें दर्ज हुए
उत्‍तर प्रदेश के जालसाज शाइन सिटी के निदेशक राशिद नसीम ने देशभर में 60 हजार करोड़ से अधिक की ठगी की ज‍िसमें उसके ख‍िलाफ पांच हजार से अध‍िक मुकदमे दर्ज हैंं। वर्तमान में वह दुबई से ठगी का नेटवर्क चला रहा है।

प्रदेश के महाठग साइन सिटी के निदेशक राशिद नसीम ने देशभर में 60 हजार करोड़ से अधिक की ठगी की। राशिद को वर्ष 2019 में नेपाल के काठमांडू से गिरफ्तार किया गया था। बाद में नेपाल से उसे जमानत मिल गई थी अब सारा माल समेट कर वह दुबई से ठगी का नेटवर्क चला रहा है। रााश‍ि‍द अब जार्जिया की नागरिता लेने की भी फिराक में है। पुल‍िस राशिद की पत्नी और भाई समेत उसकी कंपनी के कई कर्मचार‍ियों समेत करीब 50 आरोपितों को गिरफ्तार कर चुकी है। वहीं, एसटीएफ ने बीते 30 जून को शाइन सिटी के नेशनल हेड बृज मोहन सिंह को भी गिरफ्तार कर जेल भेजा था।

दुबई से कई देशों में चला रहा अपना नेटवर्क अभी भी उसके लोग नेपाल मे है

महाठग राशिद नसीम ने दुबई जाकर खुद को ग्लोबल ब्रांड घोषित कर दिया। अब दुबई से वह कई देशों में ठगी का नेटवर्क चला रहा है। वर्ष 2018 में उसने यूएसए, लंदन, न्यूजीलैंड, कनाडा, डेनमार्क, नेपाल स्वीडन, आयरलैंड, हांगकांग, सिंगापुर, नार्वे, स्विट्ज़रलैंड, फिनलैंड, मलेशिया, जार्जिया देशों में अपनी कम्पनियां शुरू करने का ऐलान किया। राशिद नसीम ने रियल एस्टेट में ग्रुप हाउसिंग, फ्लैट, कामर्शियल प्रापर्टी, आवासीय व व्यावसायिक प्लाट, रो हाउसिंग के प्रोजेक्ट बनाये। इलेक्ट्रॉनिक्स में उसने एलईडी टीवी, रेफ्रिजरेटर, माइक्रोवेव ओवन, मिक्सर-ग्राइंडर, पंखे समेत अन्य घरेलू उत्पाद लांच कर दिए है। इसके अलावा कई अन्य देशों के भी संपर्क में है।

कई सफेदपोशों की काली कमाई भी व्यवसाय में

राशिद नसीम के सेटिंग सफेदपोशों और अफसरों के बीच में बहुत अच्छी थी। उसके कोई काम नहीं रुकते थे। उसने अफसरों और सफेदपोशों की काली कमाई भी अपने व्यवसाय में लगा रखी थी। यह लोग उसका काम रुकने नहीं देते थे।

इसलिए लखनऊ में रहने के दौरान भी उस पर बहुत से ठगी के मुकदमें दर्ज हुए पर गिरफ्तारी नहीं हुई। गोमतीनगर पुलिस और एसआरएस माल चौकी की पुलिस तो जैसे उसके इशारों पर काम करती थी। पहले शाइन सिटी कम्पनी की ठगी के शिकार लोगों को पुलिस थाना-चौकी से ही टरका देती थी। पुलिस की राशिद और उसके गुर्गों से सांठगांठ थी।

किसानों की जमीन किराए पर लेकर लगा देता था कंपनी का बोर्ड

लुभावनी योजनाएं बताता था। इसके अलावा वाराणसी में बाबतपुर एयरपोर्ट के पास व कई अन्य स्थानों और शहरों में कई एकड़ जमीन ले रखी थी। कुछ दिन तक किसानों को भी उनकी जमीन का किराया देता फिर वह भी बंद कर देता और टाल मटोल करता। इस बीच प्लाट दिखाकर लोगों की लाखों की रकम मार देता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *