मोनू अली नेपाल भागा 0007 गैंग के सरगना का नेपाल में मिला नेटवर्क —–

क्राइम मुखबिर से उप संपादक रतन गुप्ता की रिपोर्ट –

9 सितंबर को केस दर्ज करने के बाद से तलाश में जुटी है पुलिस

करीबियों की सूचना पर पुलिस दर्जनों जगह डाल चुकी है छापा :-
महराजगंज। निचलौल थाना क्षेत्र में शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों तक मारपीट, छिनैती सहित कई घटनाओं को अंजाम देने वाले 0007 गैंग के मुख्य सरगना का नेटवर्क नेपाल में बताया जा रहा है। आशंका जताई जा रही है की गैंग के सरगना सहयोगियों की मदद लेकर बॉर्डर पार कर नेपाल भाग गया है। पुलिस उसके लोकेशन पर तलाश करने की व्यवस्था बना रही है। पुलिस 9 सितंबर को गैंग के सरगना सहित पांच के खिलाफ संबंधित धाराओं में केस दर्ज किया था।


पुलिस के मुताबिक पिपराकाजी गांव का रहने वाला मोनू अली पिछले करीब एक वर्ष पहले सोशल मीडिया पर 0007 नाम से एक ग्रुप संचालित कर रहा था। कुछ दिन बाद युवक मोनू ग्रुप के जरिये शहर से लेकर ग्रामीणों इलाकों के कुछ युवाओं के साथ एक गैंग तैयार कर लिया।



7 सितंबर को निचलौल-ठूठीबारी मार्ग स्थित सिरौली गांव के पास 0007 गैंग में शामिल कुछ युवकों ने छितौना गांव के रहने वाले युवक राहुल यादव पर पंच से जानलेवा हमला बोलकर लहूलुहान कर दिया था। उक्त सूचना के बाद गैंग के मुख्य सरगना मोनू अली निवासी पिपराकाजी के अलावा बिपुल चौरसिया निवासी डीगही कोतवाली ठूठीबारी, विशाल यादव निवासी बैदौली के खिलाफ पुलिस ने संबंधित धाराओं में केस दर्ज कर लिया। वही ओंकार अग्रहरी और अमरेश निवासी महाशय मुहल्ला को सिधावे गांव में छापा डालकर गिरफ्तार कर ली गई। फरार सरगना सहित अन्य को गिरफ्तारी के लिए टीम लगी है। एक दर्जन भर से अधिक जगहों पर छापा मारा जा सका है। गैंग के सदस्यों से पूछताछ में कुछ अहम सूचना मिली है। बहुत जल्द सरगना सहित अन्य फरार आरोपियों को गिरफ्तार कर ली जाएगी।


ग्रुप को छोड़ चुके है गैंग के सदस्य :-
थाना प्रभारी निरीक्षक सत्यप्रकाश सिंह ने कहा कि सोशल मीडिया पर बने ग्रुप के जरिये बने 0007 गैंग के मुख्य सरगना सहित उनके कुछ सदस्यों के खिलाफ कारवाई को देखते हुए गैंग के सदस्य ग्रुप छोड़ चुके हैं। गैंग में शामिल तमाम युवक इन दिनों शहर और गांव छोड़ फरार हो चुके हैं। करीब एक दर्जन से अधिक युवकों को पकड़ पूछताछ करने के बाद संबंधित धाराओं में कार्रवाई भी की जा चुकी है। फरार सदस्यों का लोकेशन मिलते ही उन्हें जल्द गिरफ्तार कर कारवाई की जाएगी।


गैंग के सरगना पर कुछ नेता मेहरबान :-


जानकारी के मुताबिक 0007 गैंग के मुख्य सरगना और उनके कुछ सदस्यों पर क्षेत्र में राजनीति करने वाले कुछ लोग मेहरबान हैं। यही कारण है की गैंग के सरगना और उसके कुछ सदस्य किसी भी बड़े घटना को अंजाम देने के बाद अभी तक आसानी से बचते रहे। फिलहाल अब पुलिस गैंग के साथ ही उन राजनीति करने वाले नेताओं पर भी शिकंजा कसना शुरू कर दिया है।

क्राइम मुखबिर
अपराध की तह तक!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *