नेपाल और भारत के बीच कटकुइया सीमा पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया

भारत-नेपाल सीमा संवाददाता जीत बहादुर चौधरी की रिप‍ोर्ट

काठमाण्डौ,नेपाल – नेपाल और भारत की सीमा को जोड़ने वाले बांके जिला के दूसरे मुख्य चौराहे नारायणापुर-1 पर आठ फीट की ऊंचाई पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया है. गुरुवार को एक समारोह के दौरान नारायणपुर ग्रामीण नगर पालिका नेपाल के सशस्त्र पुलिस बल नं. 30 सदस्यीय बोर्ड के आगमन पर बांके चौकी कठकुइयां में मुख्य जिला पदाधिकारी श्रवण कुमार पोखरेल ने झंडोत्तोलन किया ।

उस अवसर पर नारायणपुर ग्राम के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी मनीराम खरेल ने कहा कि हजारों योजनाओं के बीच नारायणपुर के मुख्य सीमा क्षेत्र पर राष्ट्रीय ध्वज फहराने में सफल होना नारायणपुर वासियों के लिए गर्व की बात है और अगले साल के बजट में सीमा पर गेट बनाने की प्रतिबद्धता जताई ।

बांके जिला के मुख्य जिला पदाधिकारी श्रवण कुमार पोखरेल ने विश्वास जताया कि कटकुइया में फहराया गया राष्ट्रीय ध्वज सभी नेपालियों की गरिमा और स्वाभिमान को दर्शाता है ।

उन्होंने कहा, ”किसी भी राष्ट्र की राष्ट्रीयता सिर्फ झंडे में नहीं होती, राष्ट्रीयता हर नागरिक के दिल में होती है.”।

नारायणपुर 1 के अध्यक्ष इसाक जोलाहा ने टिप्पणी की कि जो लोग देश पर शासन करते हैं वे अभी भी केवल राजधानी में राष्ट्रीयता चाहते हैं, ।

उन्होंने कहा, “यदि राष्ट्रीयता देखी जाए तो मधेसी समुदाय जो 13 हजार 85 किमी पर दिन-रात अपनी भूमि की रक्षा और सुरक्षा कर रहे हैं मेची के बाद से इस देश की नेपाल-भारत सीमा तब होती है जब आप महाकाली की सीमा पर आते हैं।

कार्यक्रम में सशस्त्र पुलिस प्रमुख पुलिस उपनिरीक्षक रमेश बिक्रम शाही, बांके जिला पुलिस प्रमुख पुलिस उपनिरीक्षक सुभाष बोहरा, अनुसंधान विभाग के एसपी मोहन कुवंर, वार्ड नं. 2 के अध्यक्ष मसूद अहमद शाह, 3 के अजय मिश्रा, 4 के मनोज शर्मा, नारायणपुर के प्रेस विशेषज्ञ आलम खान,

पत्रकार विनय दीक्षित, नेपाल और भारत दोनों देशों के जन प्रतिनिधि, पार्टी प्रतिनिधि, नागरिक, सुरक्षा कर्मियों के स्थानीय प्रमुख शामिल हुए।

क्राइम मुखबिर
अपराध की तह तक !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *