भारतीय पर्यटकों के साथ नेपाल में दुर्व्यवहार का आरोप , नेपाल पुलिस ने सोने का चैन छिना


रिपोर्टर रतन गुप्ता सोनौली /नेपाल Tue, 27 Sep 2022
गोरखपुर से मनोकामना दर्शन करने एक व्यपारी परिवार नेपाल सोनौली बाडर होकर नेपाल के लिये अपने भारतीय गाडी से कल गये थे रास्ते भर इन्टी के नाम पर जगह.जगह नेपाल पुलिस और प्राईवेट नेपाली युवको ने धनऊगाही करते रहे । जैसे ही गाडी नारायण पहुची एक साईकिल वाले युवक ने टक्कर मार कर सडक पर गीर गया तब तक एक नेपाल पुलिस का सिपाही आगया और तूतू.मै मै होने लगा घन्टो गाडी खडा कर.सिपाही ने बताया की युवक का हाथ टूट गया । दवा कराने का एक लाख भारतीय रुपया लगे गा हमने मना लिया है मोहित अग्रवाल ने कहा हमारे पास इतने पैसा नही है । रात 1बजे हमने अपने गले का सीकड दिया मै मनोकामना न जाकर नारायणधाट से वापस सोनौली आगया । नेपाल युवक और पुलिस दोनो मिले हुये थे बच्चे परिवार के लोग थे मै और अपने परिवार को सोने के सीकड देकर अपनी जान बचाकर आ गये । नेपाल मे भारतीय गाडी और भारतीयो को चेकिग के नाम पर धन उगाही नेपाल हो रही है । अग्रवाल ने सोनौली मे अपने साथ हुये घटना के बारे मे बताकर रोने लगे । ने पाल मे आये दिन भारतीयो के साथ दुव्यर्वाहर हो रहे है । नेपाल जाने से भारतीय गाडी नेपाल ले जाने वाले सावधान रहे ।

वही दुसरी घटना भी विश्व पर्यटक दिवस पर हुआ———————————— विश्व पर्यटन दिवस 27 सितंबर को भारत सहित अन्य देशों के पर्यटकों के स्वागत का नेपाल पर्यटन मंत्रालय की कथनी करनी में अंतर है। आरोप है कि नेपाल जाने वाले भारतीयों का शोषण होता है।
21 सितंबर को नेपाल गए उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ व मऊ जिले के पर्यटकों ने वापस आकर सोनौली सीमा पर अपने दर्द को बयां किया। पर्यटक पवन कुमार, पंकज, रत्नेश व सोनू का कहना कि अपने साथियों के साथ पोखरा व काठमांडू की यात्रा पर अपनी कार से गए थे। नेपाल प्रवेश करते ही सोनौली सीमा के बेलहिया कस्टम से ही भेदभाव शुरु हो गया ।

रास्ते में जितने भी पुलिस जांच सेंटर मिले, हर जगह निजी वाहन की जांच में तमाम कमियां दिखा कर धन वसूला जाता है। नेपाल में घूमकर लौटे पर्यटकों ने बताया कि उनसे जांच के नाम पर करीब 20 हजार रुपये बेवजह वसूले गए। पर्यटकों से दुर्व्यवहार के मामले में डीएसपी तर्क राज पांडेय (काठमांडों) का कहना है कि मामला संज्ञान में आया है। जांच कराकर दोषियों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *