सोनौली नौतनवा के लोग सावधान! मिलावटी खोया, पनीर की बेखौफ बिक्री


रिपोर्टर रतन गुप्ता नौतनवा 2मार्च 2023

होली आगया है इस समय त्योहारी सीजन चल रहा है। बाजार में मिठाइयों की बिक्री शुरू हो गई है। आने वाले कुछ दिन में मिठाई की दुकानों पर भीड़ जमा होनी शुरू हो जाएगी। इस समय लागत कम करने और ज्यादा मुनाफे के चक्कर में कई दुकानदार मिलावटी मावे, दूध सहित अन्य खाद्य पदार्थों से बनी मिठाई बेचते हैं।
डॉक्टरों के अनुसार हानिकारक होती हैं। वहीं 550 रुपए किलो की कीमत वाला देशी घी कई दुकानों पर 350 रुपए किलो में बिकता रहा है पकड़ा जा चुका है। ने नकली व असली के बारे में आमजन को जागरूक करने के लिए बाजार में मिलावटी खाद्य पदार्थों से बचाव व सावधानियों के बारे में हेल्थ विभाग के सीएमओ सोनौली ,नौतनवा आने की योजना बना रहे है
क्या मिलाया जाता है मावा में : मावा में सिंथेटिक दूध, मैदा, वनस्पति घी, आलू, अरारोट मिलाया जाता है।
कैसे पहचानें मिलावट : मावा पर फिल्टर आयोडीन की दो से तीन बूंद डालें। यदि मावा काला पड़ जाता है तो इसमें मिलावट है।
दूध में मिलावट: दूध में डिटर्जेंट, पानी और सिंथेटिक मिलाया जाता है। सेहत के लिए खतरनाक होता है।
कहां से आता है नकली मावा : दुकानदार ने नाम न छापने की शर्त पर बताया सोनौली ,नौतनवा ,भगवानपुर ,रतनपुर ,ठुठीवारी में नकली मावा यूपी व राजस्थान से आता है। सोनौली ,नौतनवा में छोटे दुकानदार को भी 500 किलो मावा की जरूरत होती है। इतना मावा सोनौली ,नौतनवा में नहीं होता।
कैसे पहचानें मिलावट
-आधा कप दूध को उतने ही पानी में मिलाएं, यदि झाग निकलता है तो उसमें डिटर्जेंट हो सकता है।
-सिंथेटिक दूध को उंगलियों के बीच रगड़ें। साबुन जैसा लगे तो सिंथेटिक दूध हो सकता है या दूध गर्म करने पर पीला हो जाए तो भी यह सिंथेटिक दूध हो सकता है।
-दूध की थोड़ी सी मात्रा किसी सतह पर डालें, यदि दूध लकीर बनाते हुए फैले तो इसका मतलब है कि उसमें पानी ज्यादा मिला हुआ है।

पनीर में मिलावट: पनीर को पानी में उबालकर ठंडा कर लें। इसके बाद इसमें थोड़ा-सा आयोडीन सॉल्यूशन डालें, नीला रंग स्टार्च की मिलावट साबित कर देगा।
घी : देसी घी में आलू, अरारोट और रिफाइंड भी मिलाया जाता है। इससे घी का स्वाद बदल जाता है। साथ ही, ज्यादा दानेदार भी नहीं होता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *