नेपाल में नई सरकार बनाने के लिए बैठकों का दौर शुरू, ये गठबंधन है बहुमत के करीब


रिपोर्टर रतन गुप्ता सोनौली /नेपाल
नेपाली कांग्रेस के नेतृत्व वाले पांच दलों के सत्तारूढ़ गठबंधन के शीर्ष नेताओं ने सोमवार को नई सरकार बनाने और सत्ता साझेदारी के विषय पर बातचीत के लिए कई दौर की बैठकें कीं. नेपाल में 20 नवंबर को हुए आम चुनाव के बाकी बची सीटों के परिणाम जल्द ही घोषित हो सकते हैं. प्रतिनिधि सभा और सात प्रांतीय विधानसभाओं के चुनाव में मतगणना 21 नवंबर को शुरू हुई थी और इस सप्ताह इसके पूरी होने की संभावना है. बता दें कि अभी तक 158 सीटों के परिणाम घोषित किए जा चुके हैं. गठबंधन स्पष्ट बहुमत की ओर बढ़ रहा है और नई सरकार बना सकता है. मतगणना लगभग पूरी हो गई है और सात सीटों के परिणाम अभी घोषित नहीं किए गए हैं. किसी भी दल को सरकार बनाने के लिए 275 सदस्यीय सदन में 138 सीटों की जरूरत है.

यहां जानें किसके पास कितनी सीट

नेपाली कांग्रेस, सीपीएन-माओवादी सेंटर, सीपीएन-यूनिफाइड सोशलिस्ट, लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी (एलएसपी), साथ ही राष्ट्रीय जनमोर्चा सहित पांच दलों के गठबंधन के पास सीधे चुनाव के तहत एचओआर में 85 सीटें है, जिसके बाद विपक्षी सीपीएन-यूएमएल गठबंधन के पास 56 सीटें हैं. प्रधानमंत्री शेरबहादुर देउबा की अगुवाई वाली नेपाली कांग्रेस ने 20 नवंबर को हुए संसदीय चुनाव में 53 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में बढ़त बना रखी है, वहीं उसके सहयोगी दलों सीपीएन माओवादी ने 17, सीपीएन-यूनिफाइड सोशलिस्ट ने 10, एलएसपी ने 4 और राष्ट्रीय जनमोर्चा ने एक सीट जीती हैं.

तीन सीटों पर फिर से होंगे चुनाव

सीपीएन-यूएमएल को 42 सीटों पर सफलता मिली है, वहीं उसकी सहयोगी राष्ट्रीय प्रजातंत्र पार्टी और जनता समाजवादी पार्टी ने सात-सात सीटों पर जीत हासिल की है. तीन सीटों पर चुनाव स्थगित हो गए हैं और शुक्रवार को इन पर मतदान होगा. प्रधानमंत्री और नेपाली कांग्रेस के अध्यक्ष शेर बहादुर देउबा ने नेपाल की कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी सेंटर) (सीपीएन-माओवादी सेंटर) के अध्यक्ष पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ के साथ-साथ सीपीएन (यूनिफाइड सोशलिस्ट) के अध्यक्ष माधव कुमार नेपाल से चर्चा करने के लिए अलग-अलग मुलाकात की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *