जिला जेल गोरखपुर में आग लगाने वाला फरार अभियुक्त को शाहपुर पुलिस ने किया गिरफ्तार

गोरखपुर। गोरखपुर जेल में 13 अक्टूबर 2016 को कैदी की मौत के बाद जिला जेल में उत्पात मचाते हुए कैदियों ने पुलिस पर जानलेवा हमला बोला था जिसमें 121 से कैदियों को विवेचना के दौरान अभियुक्त बनाया गया था 119 कैदियों को पहले जेल भेजा जा चुका है फरार चल रहे दो अभियुक्तों में से महेंद्र यादव को शाहपुर पुलिस ने एसओजी टीम के सहयोग से गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की बचे एक अभियुक्त बिट्टू मिश्रा निवासी भैंसालोटन बाल्मिकी नगर बिहार के ऊपर 15000 नगद इनाम घोषित है उसे भी गोरखपुर की पुलिस जल्द ही गिरफ्तार कर लेगी पुलिस लाइन वाइट हाउस सभागार में पुलिस अधीक्षक नगर कृष्ण विश्नोई ने प्रेस वार्ता कर बताया कि 13 अक्टूबर 2016 को जेल खोलने के पश्चात कारागार में निरुद्ध बंदी आफरीन विवेक तिवारी राकेश सिंह नंदन सिंह राकेश मणि मनोज ओझा चंदन यादव शेरू राज कुमार बाजपेई आनंद तिवारी दीपू उर्फ करुणेश बुद्धीसागर शुक्ला तथा अन्य अज्ञात कैदियों द्वारा कारागार में अभिलेखों को नष्ट कर सरकारी इमारत पीसीओ यंत्र जेल में लगे सीसीटीवी कैमरे सहित अन्य बिजली के सामान तोड़फोड़ कर नष्ट कर दिये थे जिसमें 119 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया जा चुका था फरार चल रहे दो कैदियों में से एक मनोज यादव पुत्र श्यामा यादव निवासी इंद्र नगर न्यू शिवपुर कॉलोनी थाना रामगढ़ताल गोरखपुर को आज गिरफ्तार किया गया फरार एक अभियुक्त बिट्टू मिश्रा को बहुत ही जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
मालूम हो कि 13 अक्टूबर 2016 को जिला कारागार में एक कैदी की मौत के बाद अन्य कैदियों ने जमकर उत्पात मचाया था पूरे जेल परिसर को अपने कब्जे में ले लिया था इस भिड़ंत में तीन पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए थे स्थिति को काबू में करने के लिए जिला प्रशासन को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी थी जेल सिपाही जेल के अंदर जाने में कतरा रहे हैं थे तत्कालीन जिलाधिकारी संध्या तिवारी के साथ तत्कालिन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रामलाल वर्मा भारी संख्या में बल लेकर जेल के बाहर मुस्तैद थे कैदियों पर आंसू गैस के गोले छोड़े गए थे। क्यों की 13 अक्टूबर 2016 को जेल प्रशासन ने जेल में छापा मारकर सघन जांच अभियान चलाया था कई कैदियों के पास से आपत्तिजनक सामान बरामद किए गए थे, जिसके बाद से ही जेल में सख्ती बरती जा रही थी इस कार्रवाई से नाराज कुछ बंदियों ने नारेबाजी और पथराव किया था उस कार्रवाई में 25 अभियुक्तों को नामजद किया गया था विवेचना के दौरान विवेचक ने 121 उपद्रव आगजनी दस्तावेजों को फाड़ने के लिए दोषी पाया था जिसमें से 119 उपद्रवियों को पहले ही जेल भेजा जा चुका है फरार चल रहे दो अभियुक्तों में से एक अभियुक्त महेंद्र यादव पुत्र स्वर्गीय श्यामा यादव निवासी इंदिरा नगर न्यू शिवपुर कॉलोनी थाना रामगढ़ ताल को शाहपुर पुलिस ने एसओजी टीम के सहयोग से गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त किया फरार चल रहे बिहार निवासी बिट्टू मिश्रा भईसालोटन बाजार बाल्मिकीनगर के ऊपर 15000 इनाम घोषित किया गया है उसे भी बहुत ही जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *