सोनौली बाडर पर महिला तस्करो को पकडने मे बेबस हो रही है एसएसबी और पुलिस

रिपोर्टर रतन गुप्ता सोनौली /नेपाल Fri, 17 Sep 2022
सोनौली बाडर के इन्डिया गेट से होकर महिला तस्कर भारत से समानो को लेकर खुलेआम जाती है और दो नम्बर गली से नेपाल से तस्करी कर भारत मे लाती है । महिलायो की संख्या 200के आस पास है यह सुबह 8बजे नास्ता कर सोनौली बाडर पर पहुच कर प्रतिदिन रुटिन के हिसाब से इधर से उधर करना सुरु हो जाता है । सोनौली और नौतनवा तक तीन दर्जन गोदाम ,और कई दुकान से कैरिग का काम होना एक आम बात है । सीमा पर एसएसबी के दर्जनो सीसीकैमरा लगे है । आने जाने वाले की रिकाडिग होती है सारे रिकाड सीमा पर ही मिल जाये गे । 200महिलाये प्रतिदिन करोणो के समान इस पार से उस पार करने मे माहिर है । सीमा पर कस्टम ,पुलिस , एसएसबी के मुखविर है उसके बाद भी नेपाल से कबाड ,कास्मैटिक , सहित दर्जनो समान भारत आ रहे है कुछ पकडे 20प्रतिशद पकडे जा रहे है और 80प्रतिशद निक जा रहे है । भारत से कपडा ,चीनी ,दाल ,खाद अन्य दर्जनो समाने जारी है कुछ पकडे जा रहे है और भारी पैमाने पर नेपाल जा रहे है । सीमा पर डी आई जी ,कप्तान , दौरा कर रहे है उसके बाद भी तस्करी जारी है । महिला तस्करो को पकडने से 40प्रतिशद तस्करी रुकने का अनूमान है । वाकी अगर गस्त रात दिन हो तो पकडन्डी पर तस्करो पर लगाया जा सकता है । पुलिस और एसएसबी महिला तस्करो को धरपकड क्यो नही कर रही है यह एक सस्पेन्स बना है ।

सोनौली नौतनवा सीमाई क्षेत्र में तस्करी पर अंकुश लगाने के लिए एसएसबी व पुलिस की चौकसी बढ़ गई है। गुरुवार की देर शाम एसएसबी व पुलिस की संयुक्त टीम ने बॉर्डर क्षेत्र में अभियान चलाया। पगडंडियों के रास्तों पर आने-जाने वालों की तलाशी ली और पूछताछ भी की।

पेट्रोलिंग का नेतृत्व एसएसबी निरीक्षक राजीव तिवारी व सोनौली कोतवाली के एसआई राघवेंद्र प्रताप सिंह ने की। उनके साथ करीब एक दर्जन जवानों ने अत्याधुनिक हथियारों से लैस होकर भारत-नेपाल सीमा के हरदी डाली गांव, चौराहे व पगडंडी रास्तों पर पैदल गश्त किया। गश्त में एसआई अखिलेश प्रताप सिंह, चंद्रकांत पांडेय आदि शमिल रहे। एसएसबी 66वीं वाहिनी बीओपी निरीक्षक राजीव तिवारी का कहना रहा कि सीमाई गांवों में लोगों को सुरक्षा का अहसास कराया गया। भारत-नेपाल के पगडंडी रास्तों व सीमाई क्षेत्रों में तस्करी पर अंकुश लगाने के लिए पूरी चौकसी बरती जा रही है। दो दिनो भारत नेपाल सीमावर्ती क्षेत्रो मे वारिस हो रही है उसके बाद भी रात मे तस्करी जारी है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *