सत्तारूढ़ नेपाली कांग्रेस को शुरुआती बढ़त, 48 सीटों पर आगे, ओली की पार्टी को 32 पर बढ़त


रिपोर्टर रतन गुप्ता सोनौली /नेपाल Tue, 22 Nov 2022
चुनावी पर्यवेक्षकों का कहना है कि आरएसपी का जिस तरह से प्रदर्शन है, उससे तो लगता है कि इसे न केवल राष्ट्रीय पार्टी के रूप में मान्यता मिलेगी, बल्कि अगले पांच वर्षों में देश के राजनीतिक फलक में यह प्रमुख खिलाड़ियों में से एक होगी।


कड़ी सुरक्षा के बीच संसदीय और प्रांतीय चुनावों के लिए मतगणना शुरू होने के बीच सत्तारूढ़ नेपाली कांग्रेस ने सोमवार को प्रतिनिधि सभा की पहली सीट जीत ली और 48 पर बढ़त बनाए हुए हैं। वहीं, पूर्व प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की पार्टी सीपीएन-यूएमएल 32 सीटों पर आगे चल रही है। नेपाल में सबसे कम चर्चित राष्ट्रीय स्वतंत्र पार्टी (आरएसपी) नौ निर्वाचन क्षेत्रों में बढ़त बनाए हुए हैं। जबकि राष्ट्रीय प्रजातंत्र पार्टी पांच सीटों पर और सीपीएन-माओवादी सेंटर 12 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है।

इसी तरह, सीपीएन-यूनिफाइड सोशलिस्ट 7 निर्वाचन क्षेत्रों में आगे चल रही है, उसके बाद 2 निर्वाचन क्षेत्रों में जनमत पार्टी और एक निर्वाचन क्षेत्र में लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी और हमरो नेपाल पार्टी है। चुनावी पर्यवेक्षकों के मुताबिक आरएसपी का जिस तरह से प्रदर्शन है, उससे तो ही लगता है कि इसे न केवल राष्ट्रीय पार्टी के रूप में मान्यता मिलेगी, बल्कि अगले पांच वर्षों में देश के राजनीतिक फलक में यह प्रमुख खिलाड़ियों में से एक होगी।

गौरतलब है, प्रतिनिधि सभा और प्रांतीय विधानसभाओं का चुनाव करने के लिए 1 करोड़ 79 लाख से अधिक मतदाता मतदान करने के पात्र थे। संसद के 275 सदस्यों में से 165 प्रत्यक्ष मतदान के माध्यम से चुने जाएंगे, जबकि शेष 110 आनुपातिक चुनाव प्रणाली के माध्यम से चुने जाएंगे। मतदाताओं ने सात प्रांतीय विधानसभाओं के प्रतिनिधियों को चुनने के लिए भी मतदान किया। प्रांतीय विधानसभाओं के कुल 550 सदस्यों में से 330 सीधे चुने जाएंगे और 220 आनुपातिक पद्धति से चुने जाएंगे।

बड़ी पार्टियों के खिलाफ नजर आ रहा असंतोष
राजनीतिक पर्यवेक्षकों ने बताया कि कई लोग जिन्होंने पहले नेपाली कांग्रेस या सीपीएन-यूएमएल को वोट दिया था, उन्होंने इस चुनाव में आरएसपी का पक्ष लिया, क्योंकि बड़ी पार्टियों के खिलाफ असंतोष था, जो भ्रष्टाचार की जांच करने में विफल रही हैं।

पीएम देउबा ने अब तक 463 मत हासिल किए
प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने दादेलधुरा जिले में अब तक गिने गए 1,000 वोटों में से 463 हासिल किए हैं, जहां से वह प्रतिनिधि सभा का चुनाव लड़ रहे हैं। देउबा के निकटतम प्रतिद्वंद्वी 31 वर्षीय इंजीनियर सागर ढकाल को 241 वोट मिले हैं। 76 वर्षीय देउबा दादेलधुरा निर्वाचन क्षेत्र से छह बार चुने गए और कभी कोई चुनाव नहीं हारे। दादेलधुरा में 91,201 मतदाताओं में से 51,660 ने प्रतिनिधि सभा के लिए मतदान किया है। पूर्व प्रधानमंत्री और सीपीएन-यूएमएल अध्यक्ष ओली ने अपने निर्वाचन क्षेत्र झापा-5 से शुरुआती बढ़त बना ली है।

सत्ताधारी नेपाली कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रकाश मान सिंह ने कहा कि नेपाल की नई सरकार को भारत और चीन दोनों के साथ सौहार्दपूर्ण और मैत्रीपूर्ण संबंध विकसित करने चाहिए।

प्रकाश मान सिंह ने मात्र 127 वोटों के अंतर से प्रतिनिधि सभा का चुनाव जीता है। चुनाव जीतने के तुरंत बाद यहां अपने आवास पर एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उचित अवसर आने पर मैं नई सरकार का नेतृत्व करने के लिए संसदीय दल के नेता का चुनाव लड़ूंगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *