गोरखपुरवासियों का इंतजार हुआ खत्म:नवरात्रि में ले सकते हैं क्रूज का आनंद

क्राइम मुखबिर से डॉ. योगेन्द्र पाण्डेय की रिपोर्ट –


देर शाम हुआ क्रूज का ट्रायल

क्रामुस – गोरखपुर। पर्यटक जल्द ही मुंबई और गोवा की तर्ज पर तीन फ्लोर बने क्रूज का सकेंगे आनंद।रामगढ़ताल में शुक्रवार की देर शाम क्रूज को उतार दिया गया। अब इसकी आंतरिक सजावट का काम शुरू होगा।क्रूज के एलाइनमेंट सहित अन्य परीक्षण की प्रक्रिया पूरी करके लॉचिंग के लिए तैयार किया जाएगा।नवरात्र में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उद्घाटन कराने की तैयारी चल रहा है।रामगढ़ताल में पर्यटकों के लिए आधुनिक सुविधाओं वाले क्रूज का संचालन नवरात्र में शुरू हो जाएगा।शुक्रवार की शाम मोरंग से भरे बैग के लाचिंग पैड पर लोहे के बनाए बड़े-बड़े फ्लोटर्स पर ग्रीस लगी लकड़ी के चौकोर गुटकों की मदद से दो सौ टन के क्रूज को पानी में उतारा गया।फर्म के प्रबंध निदेशक राज कुमार राय ने बताया कि 12 करोड़ रुपये की लागत से क्रूज बनवाया जा रहा है।2800 वर्ग फीट का 100 वजनी पैसेंजर वेटिंग प्लेटफाॅर्म भी बनाया जा रहा है।इसके निर्माण में 1.25 करोड़ रुपये भी खर्च हुए हैं। तीन फ्लोर के क्रूज में आधुनिक सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। ट्रायल रन भी लॉचिंग के पूर्व किया जाएगा।रामगढ़ताल का पानी बढ़ाने के लिए सिंचाई विभाग ने माइनर बंद कर दिया है।सिक्टौर की ओर ताल में दीवार की ऊंचाई बढ़ाई गई है।ताकि क्रूज के संचालन में कोई दिक्कत न आए।आर्किटेक्ट डिजाइनर नितिन पांडेय और अर्चिता अग्रवाल, शुभम, नितिन पांडेय ने बताया कि जल्द ही इंटीरियर का काम पूरा किया जाएगा। ट्रायल के दौरान दौरान जीडीए के अधिकारी मौजूद रह।


इस क्रूज में फाइव स्टार होटल के जैसे मिलेगा सुविधा-
डबल डेकर क्रूज में एक साथ 150 लोगों के बैठने की क्षमता है।इसमें फाइव स्टार होटल के जैसे मिलेगा सुविधा। इसमें रेस्टोरेंट और बार के साथ लिविंग रूम सहित अन्य सुविधाओं का इंतजाम होगा। इस क्रूज पर लोग विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन कर सकेंगे।फर्म के प्रबंध निदेशक राज कुमार राय ने बताया कि रामगढ़ताल में क्रूज को सफलतापूर्वक उतार दिया गया है।अब इसकी आंतरिक साज सज्जा का काम किया जाएगा। ट्रॉयल पूरा होने के बाद इसका संचालन शुरू होगा।उत्तर प्रदेश के गोरखपुर लिए एक बड़ी उपलब्धि है। इस क्रूज का मुख्यमंत्री के हाथों नवरात्र में उद्घाटन की तैयारी की जा रही है।

क्राइम मुखबिर
अपराध की तह तक!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *