नेपाल के बझाङ में आए भूकम्प से घरों में पड़ी दरारें, लोगों ने रात खुले आसमान के नीचे बिताई

क्राइम मुखबिर से उप संपादक रतन गुप्ता की रिपोर्ट –

क्रामुस – नेपाल के बझाङ में आए भूकम्प से बहुत क्षति तो हुई ही है साथ ही भकूंप पीडि़तों ने रात खुले आसमान के नीचे बिताई है । रात और आज सुबह भी कई बार छोटे छोटे झटके महसूस किए गए हैं । बहुत लोग हैं जो खुले आकाश के नीचे रह रहे हैं वो घर जाकर घर में नहीं रहना चाहते हैं । कुछ लोगों ने नेपाल रेडक्रस द्वारा उपलब्ध करवाए गए ४० त्रिपाल लगाकर तो कुछ ने आप ही व्यवस्था कर रात काटी है ।
मंगलवार दोपहर २ः४० बजे बझाङ के चैनपुर आसपास केन्द्रविन्दु होकर ५.३ और ३ बजकर ६ मिनेट में ६.३ म्याग्निच्युड का भूकम्प आया । उसके बाद १० बार भूकम्प के झटके महसूस किए गए । राष्ट्रीय भूकम्प मापन केन्द्र लैनचौर ने भी यह विवरण दिया है । ये कम्पन ५ से लेकर ४ म्याग्निच्युड तक का है ।
सूत्रों के अनुसार बुधवार की सुबह तक आए भूकम्प से १३ लोग घायल होने तथा एक व्यक्ति के लापता होने की जानकारी मिली है । सभी का उपचार किया जा रहा है
अभी तक मिली सूचना के अनुसार भूकम्प और परकम्प से सदरमुकाम चैनपुर सहित क स्थान में घर और अन्य भौतिक संरचना में क्षति पहुँची है । निजी, सरकारी और सार्वजनिक भवन गिर चुके है तो किसी किसी भवन में दरादें आ गई है । प्रभावित लोगों को नेपाल विद्युत प्राधिकरण के चौर, जिला प्रशासन के प्रांगण, टुँडिखेल और विद्यालय के चौर में रखा गया है ।नेपाल में भूकम्प के बाद दहशद का माहौल बना है ।

क्राइम मुखबिर
अपराध की तह तक!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *