डबल इंजन की सरकार को हम जिला सहकारी बैंक धन्यवाद व्यापित करते हैं:सभापति

क्राइम मुखबिर से डॉ. योगेन्द्र पाण्डेय की खास रिपोर्ट –

क्रामुस – गोरखपुर।गोरखपुर जिला सहकारी बैंक सभागार में बुधवार को बैंक के सभापति विजय प्रताप सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया कि अखंड भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा देश के गरीब किसानों मजदूरों के सर्वे विकास की धरातल पर लाने के लिए देश के आती ऊर्जावान कठोर निर्णय लेने में महारत गृह मंत्री अमित शाह को सहकारिता विभाग को कृषि विभाग से अलग कर स्वतंत्र विभाग का मंत्री बनाया गया तभी से सहकारिता के क्षेत्र में नित्य नए आयाम बनाए जा रहे हैं,उन्होंने कहा कि सहकारिता से आमजन को जोड़ने के लिए प्रदेश की साधन सहकारी समितियां को बी पैक्स के रूप में परिवर्तन कर बी पैक्स सदस्यता अभियान एक सितंबर से 30 सितंबर तक चलाया गया जिसका उद्घाटन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शान धारा सहकारिता को ऊंचाई पर ले जाने की विदा प्रदेश के सहकारिता राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार जेपीएस राठौर को दिया।जिसका प्रत्यक्ष उदाहरण यह था कि मंत्री एवं उनके कार्यालय द्वारा प्रत्येक दिन किसी भी समय किसी से भी फोन धारा जानकारी ली जाती रही है सभापति मीडिया से बात करते हुए,बताया कि राठौर जी ने अपने कुशल नेतृत्व सभी कर्मचारियों अधिकारियों जनप्रतिनिधियों का सहयोग लेते हुए प्रदेश के लक्ष्य से अधिक पूर्ति समय से पूर्व कर लिया जिला सहकारी बैंक गोरखपुर में समितियां को 79240 सदस्य बनाने का लक्ष्य दिया गया था जिसमें बैंक ने समय से पूर्व कर लिया।वर्तमान में एक जनवरी 2023 से अपने खाता धारकों को लगभग 20 करोड रुपए का भुगतान कर चुका है तथा सभी खाता धारकों को अस्वस्थ करती है कि बैंक में जमा धनराशि पूर्णतया सुरक्षित है किसी तरह से घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है बैंक मत्स्य पालन पशुपालन एवं किसान क्रेडिट कार्ड तथा वेतन भोगी सहकारी समिति गृह ऋण शुगर एवं अन्य योजनाओं के माध्यम से लगभग 50 करोड़ का वितरण इस वित्तीय वर्ष में कर चुकी है जिसमें 100 करोड़ करने का लक्ष्य है उसके साथ ही उत्तर प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार धन्यवाद ज्ञापित किया और सभापति दया की सरकार का सहयोग हम सहकारिता बैंक को लगातार मिलता रहा है और मिल भी रहा है जिसे हम सरकार की कुछ योजनाओं को बैंक के माध्यम से आम जनमानस के बीच पहुंचाने का काम कर रहे हैं।

क्राइम मुखबिर
अपराध की तह तक!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *